Homeसक्सेस स्टोरीDeepinder Goyal: 6वीं में फेल, अब अरबों की कंपनी के मालिक।

Deepinder Goyal: 6वीं में फेल, अब अरबों की कंपनी के मालिक।

Date:

Share post:

Deepinder Goyal, जिन्होंने 6वीं कक्षा में फेल होने के बाद भी हार नहीं मानी, आज अपनी अरबों की कंपनी के साथ सफलता के शिखर पर हैं।

Deepinder Goyal

एक दिन की लंबी लाइन ने दीपिंदर गोयल की दुनिया बदल दी, जिससे उभरा ज़ोमैटो – आज भारत की सबसे बड़ी फूड डिलीवरी ऐप। उनकी यह यात्रा, जिसने आसानी से घर बैठे मनपसंद खाना पहुंचाने का सपना साकार किया, ने ज़ोमैटो को 1 लाख करोड़ रुपए की कंपनी में तब्दील कर दिया। दीपिंदर की सफलता की कहानी यह साबित करती है कि किस्मत और कड़ी मेहनत मिलकर कुछ भी हासिल कर सकती हैं।

Dipendar

Deepinder Goyal 6वीं कक्षा में फेल, IIT से सफलता की उड़ान तक” – एक साधारण कैफेटेरिया लाइन का अनुभव जिसने बदल दी दुनिया। शैक्षिक चुनौतियों के बावजूद, दीपिंदर ने अपनी बाधाओं को पार करते हुए IIT में अपना स्थान बनाया और इंजीनियरिंग में उत्कृष्टता हासिल की। एक कॉर्पोरेट नौकरी शुरू करने के बाद, एक सिंपल आइडिया ने उन्हें फूड डिलीवरी की दुनिया में क्रांति लाने की ओर प्रेरित किया। आज, उनका आविष्कार, ज़ोमैटो, देश का अग्रणी फूड डिलीवरी एप है, जिसने उन्हें एक व्यावसायिक प्रतिभा के रूप में स्थापित किया है।

Deepinder Goyal Zomato CEO

कैसे हुई Zomato की शुरुआत

ज़ोमैटो, दीपिंदर गोयल का वह शानदार आइडिया जिसने फूड एग्रीगेटर ऐप की दुनिया में क्रांति ला दी। 2008 में शुरू हुआ यह सफर, आज करोड़ों एक्टिव यूजर्स तक पहुंच चुका है। ज़ोमैटो के जरिए लोग अपने आस-पास के होटल और रेस्टोरेंट्स से मेनू कार्ड के अनुसार खाना ऑर्डर कर सकते हैं, जो कुछ ही समय में उनके दरवाजे तक पहुंच जाता है। विज्ञापनों से शुरू होकर, 2013 में 37 मिलियन डॉलर की फंडिंग प्राप्त करने तक, ज़ोमैटो ने अपनी सफलता की कहानी को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया है।

Deepinder Zomato

2200 करोड़ के मालिक

दीपिंदर गोयल, जिनकी नेट वर्थ 2200 करोड़ रुपये है, एक उदाहरण हैं कि सफलता और सादगी एक साथ चल सकती है। ज़ोमैटो के संस्थापक होने के नाते वह एक सिंपल लाइफ जीने का चुनाव करते हैं और मीडिया की सुर्खियों से दूर रहते हैं। कोरोनाकाल में उन्होंने बच्चों की पढ़ाई के लिए दिल खोलकर 700 करोड़ रुपये दान किए। 2022 में उन्होंने Blinket कंपनी को 4,447 करोड़ में खरीदा, और उनकी कंपनी ज़ोमैटो ने शेयर बाजार में भी अपनी जगह बनाई है। विश्वभर में 26 देशों में सेवाएं प्रदान करते हुए, ज़ोमैटो में हजारों कर्मचारी काम करते हैं, जिससे उनकी व्यावसायिक सफलता और सामाजिक योगदान की गहराई का पता चलता है।

spot_img

Related articles

Spotify का नया AI Playlist जो आपकी पसंद के मुताबिक बनाएगा गाने

म्यूजिक स्ट्रीमिंग की दुनिया में क्रांति लाते हुए, Spotify ने एक नया AI आधारित फीचर पेश किया है...

PM Modi In”Jamui” बिहार में चुनावी अभियान: विपक्ष पर निशाना

प्रधानमंत्री मोदी की बिहार में रैली जमुई- PM Modi ने आज "Jamui" बिहार में अपने चुनावी अभियान के तहत...

24 साल में किसान की बेटी ने दो बार UPSC पास कर IAS बनी, बहन IPS हैं

AS Ishwarya Ramanathan: बड़े सपनों को मन में संजोए, ईश्वर्या ने 2017 में चेन्नई के अन्ना विश्वविद्यालय से...

Lava 02 Sale की बिक्री आरंभ, केवल 7,999 रुपये में उपलब्ध है यह फोन

Lava 02 Sale Kickstarts प्रीमियम ग्लास बैक डिजाइन और जबरदस्त बैटरी के साथ साथ दमदार डिस्प्ले के साथ मार्केट...