HomeTrending Newsअयोध्या से 1600 किमी दूर मिली हजार साल पुरानी भगवान विष्णु की प्रतिमा

अयोध्या से 1600 किमी दूर मिली हजार साल पुरानी भगवान विष्णु की प्रतिमा

Date:

Share post:

रामनगरी अयोध्या से 1600 किमी दूर, नदी में प्राचीन भगवान विष्णु की प्रतिमा मिली, विशेषज्ञों का कहना है, रामलला जैसी है आभा।

lord vishnu idol

कर्नाटक के रायचूर जिले में एक अद्भुत घटना सामने आई है। वहां के एक गांव में कृष्णा नदी से भगवान विष्णु की प्राचीन प्रतिमा मिली है, जो करीब हजार साल पुरानी हो सकती है। इस प्रतिमा की खासियत यह है कि यह बिल्कुल रामलला की नवनिर्मित प्रतिमा से मिलती-जुलती है। विशेषज्ञों का मानना है कि यह प्रतिमा 11वीं या 12वीं शताब्दी की हो सकती है। अभी हाल ही में अयोध्या में राम मंदिर में रामलला की प्रतिमा की स्थापना की गई थी, जिसने लोगों में उत्साह और आनंद का संचार किया।

प्रतिमा के साथ मिला शिवलिंग

इस विग्रह के साथ ही एक प्राचीन शिवलिंग भी पाया गया है। भगवान विष्णु के यह विग्रह रूप, रंग, और स्वरूप रामलला के भव्य मंदिर में स्थापित विग्रह से समान है।

shivling

कैसी दिखती है प्रतिमा?

भगवान विष्णु की इस प्रतिमा के प्रभामंडल के चारों ओर ‘दशावतारों’ को उकेरा गया है। प्रतिमा पर मत्स्य, कूर्म, वराह, नरसिम्हा, वामन, राम, परशुराम, कृष्ण, बुद्ध और कल्की अलंकृत हैं। विष्णु जी की प्रतिमा के चार हाथ हैं, जिनमें दो ऊपर उठे हाथ शंख और चक्र से सुसज्जित हैं। नीचे की ओर सीधे किए दो हाथ आशीर्वाद की मुद्रा में हैं, जिनमें एक ‘कटि हस्त’ और दूसरा ‘वरद हस्त’ है।

vishnu idol

विशेषज्ञों का मानना है कि यह प्रतिमा एक मंदिर के गर्भगृह का हिस्सा है। इसे मंदिर में होने वाली तोड़फोड़ से बचाने के लिए नदी में डाला गया होगा। प्रतिमा को कुछ नुकसान पहुंचा है, जैसे कि विग्रह की नाक थोड़ी सी क्षतिग्रस्त है।

Related articles

बांस व्यवसाय की सफलता राष्ट्रभर से आ रहे भरपूर आदेश

बिहार के पूर्णिया जिले के माँ-बेटे आशा अनुरागिनी और सत्यम् सुंदरम् ने पर्यावरण प्रेम के साथ बांस व्यापार...

हरियाणा में नई राह पहली महिला ड्रोन पायलट द्वारा किसानों की तकदीर में तकनीकी क्रांति

रसोई से लेकर बच्चों की शिक्षा तक, सब कुछ आधुनिक हो चुका है। इस समय, खेती के क्षेत्र...

जीवन में बुरी परिस्थितियां है इंसान को मजबूत बनाती है कुछ ऐसी कहानी है कमल कुंभार की

आधुनिक भारत की कहानी: चूड़ियों की कहानी एक समय था, जब एक साधारण गाँव की लड़की, कमल कुंभार, सिर्फ...

ऑटो रिक्शा चालक के बेटे ने रचा इतिहास! पहले ही प्रयास में बने देश के सबसे युवा IAS अधिकारी, प्रेरणादायक है इनकी कहानी!

अंसार शेख नाम का एक युवक, जिन्होंने अपनी लगन और कड़ी मेहनत से ना सिर्फ सपनों को उड़ान...